फरीदाबाद से भी भारी संख्या में पानीपत पहुुंचेंगे स्व.पंडित चिरंजीलाल शर्मा शुभ चिंतक

फरीदाबाद। हरियाणा के पूर्व केबिनेट मंत्री एवं चार बार सांसद रहे पंडित चिरंजीलाल शर्मा की 100वीं जयंति के अवसर पर दस दिसंबर को पानीपत में होने वाले राज्य स्तरीय जयंति समारोह में फरीदाबाद से भी सैकडों की संख्या में लोग भाग लेंगे। उक्त समारोह को सफल बनाने के लिए बृहस्पतिवार को फरीदाबाद के सीही में जिला ब्राह्मण सभा के महासचिव पंडित मोतिलाल शर्मा के निवास पर एक बैठक का आयोजन कर जिले से भारी से भारी संख्या में पहुंचने की रणनीति बनाई गई तथा समर्थकों को वाहन ले जाने की जिम्मेदारी भी सोंपी। बैठक में पंडित चिरंजीलाल शर्मा के दामाद पंडित योगेश गौड व भांजे सुमित गौड सहित ब्राह्मण समुदाय के अलावा सर्व समाज के भी काफी संख्या में लोग मौजूद रहे। बैठक में दावा किया गया कि पानीपत में होने वाला यह समारोह एक ऐतिहासिक समारोह होगा जिसमें प्रदेशभर से लाखों की संख्या में लोग भाग लेकर उन्हें अपनी श्रद्धांजलि अर्पित करेंगे जिनमें फरीदाबाद की भी भारी संख्या में भागीदारी रहेगी।
वक्ताओं ने कहा कि पंडित चिरंजीलाल शर्मा हरियाणा के उन चुनिंदा नेताओं में शुमार हैं जिन्होंने भारत के स्वतंत्रता आंदोलन से लेकर हरियाणा के गठन में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका अदा की। भारत के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहररू के सहयोगी रहे मिलनसार व्यक्तित्व के धनी पंडित चिरंजीलाल शर्मा सन् 1962 में संयुक्त पंजाब में कैलान विधानसभा से विधायक चुने गए और हरियाणा गठन के बाद वह सोनीपत से दोबारा विधायक चुने गए तथा हरियाणा में पीडब्ल्यूडी, राजस्व, तकनीकि शिखा व शिक्षा जैसे कई महत्वपूर्ण विभागों के केबिनेट मंत्री रहे। इस दौरान उनके द्वारा समाजहित में किए गए कार्यों के चलते वह समूचे प्रदेश में काफी लोकप्रिय हुए और उनकी इसी लोकप्रियता के चलते कांग्रेस पार्टी ने उन्हें संसद के लिए चुनावी रण में उतारा और वह 4 बार सांसद चुने गए। विभाजन के पश्चात श्रीमति इंदिरा गांधी को चुनाव आयोग द्वारा हाथ का पंजा अलाट होने के पश्चात पंडित चिरंजीलाल शर्मा देश के पहले ऐसे नेता हैं जिन्हें करनाल लोकसभा उपचुनाव में देश में सबसे पहले हाथ के पंजे केचुनाव निशान पर लोकसभा चुनाव लडने का गौरप मिला। 1984 में पापीनत रिफाईनरी की आधारशिला रखवाने, मार्च 1990 में करनाल में राजकीय कॉलेज की स्थापना, सोनीपत से कुरूक्षेत्र तक रेलवे ओवरब्रिज बनवाने, दिल्ली से अम्बाला तक रेलवे लाईन बनवाना, एनडीआरआई को डीमड यूनिवर्षिटी बनवाने के अलावा सोनीपत को जिला बनवाने का श्रेय भी पंडित चिरंजीलाल शर्मा को जाता है।
उनकी मृत्यु के उपरांत पंडित जी की विरासत को उनके पुत्र पंडित कुलदीप शर्मा भी पूरी निष्ठा और ईमानदारी से निवर्हण कर रहे हैं। वह भी हरियाणा प्रदेश कांग्रेस कमेटी के कार्यकारी अध्यक्ष और हरियाणा विधानसभा के अध्यक्ष रह चुके हैं और पंडित चिरंजीलाल शर्मा के विचारों को जिंदा रखने के लिए ही उनकी 100वीं जयंति पर दस दिसंबर को पानीपत में बडे समारोह का आयोजन किया जा रहा है। ऐसे में हम सबका फर्ज बनता है कि बगैर किसी जाति के बंधन के इस समारोह में पहुंचें।

Mahesh Gotwal

Mobile No.-91 99535 45781, Email: [email protected], ऑफिस एड्रेस: 5G/34A बसंत बग्गा कांपलेक्स NIT Faridabad 121001

Related Articles

Back to top button